What Is Insurance बीमा क्या है और कितने प्रकार का होता है?

What Is Insurance शायद ही कोई ऐसा शक्स होगा जिन्होंने बीमा का नाम नही सुना हो। पर बीमा की पूरी जानकरी नही होने की वजह से लोग इनका फायदा नही उठा पाते है। आज आप इस पोस्ट के माध्यम से जानेगे बीमा क्या है और कितने प्रकार का होता है? और इनकी policy क्या है।

What Is Insurance बीमा क्या है

बीमा क्या है? (What Is Insurance)

बिमा एक ऐसा बॉडीगार्ड है। जो आपकी जिंदगीभर हर पल आपके साथ रहता है। आप जिस कंपनी से बीमा करवाते है। वो कंपनी अगर आपके साथ कोई दुर्घटना घटित हो जाती है तो कंपनी अपने नियम और शर्ते के अनुसार आपको क्लेम दिया जाता है।

यानि आपने अपने जीवन का बीमा करवाया है। कार बीमा करवाया है। स्वास्थ्य बीमा करवाया है। अगर आपका बीमा चल रहा है। और आपको कोई नुक्सान हो जाता है, तो उस नुक्सान की भरपाई बीमा करने वाली कंपनी करेगी। तो अब आपके समझ में आ गया होगा की बीमा क्या है यानि What Is Insurance

बीमा कितने प्रकार का होता है? (Type Of Insurance )

बीमा दो प्रकार का होता है। लेकिन इन दोनों श्रेणी वाले बीमो को अलग अलग भागो में बाँटा गया है आहिये इन सबके के बारे विस्तार से समझते है।

  1. लाइफ insurance
  2. जनरल insurance

लाइफ insurance = इस बीमा का मतलब है अगर कोई व्यक्ति जीवन बीमा करवाता है। और वो बीमा चालू हालत में है। (भगवान् न करे उनके साथ कोई दर्घटना हो) और वो इस दुनिया में न रहे लेकिन अगर ऐसा हो भी जाता है तो उनका घर चलाने के बिमा कंपनी क्लेम देती है।

इन्हें भी पढ़े

आपको जीवन बीमा क्यों लेना चाहिए ?

जीवन बीमा लेते समय रखे इन बातो का ध्यान?

जिन व्यक्ति ने जीवन बीमा ले रखा है जब वो बीमा चालू करते है तब उन्हें नॉमिनी में नाम लिखाया जाता है वो इसलिए लिखा जाता है अगर आप इस दुनिया में न रहे तो ये पैसा किसे मिलना चाहिए।

नॉमिनी नाम आप अपने बच्चे , पत्नी, भाई, बहन, माता, पिता, जो आपके ज्यादा करीबी है उनका नाम लिखवा सकते है।

जनरल insurance =इस बीमा का मतलब है की जैसे कार insurance, होम insurance, हेल्थ insurance, पशु insurance किसी भी तरह का व्हीकल insurance, फसल insurance , ये सब जनरल insurance की श्रेणी में आता है।

इस में से कोई भी बीमा आपने करवाया है, या करवाना चाहते है। और इनमे से किसी भी चीज में नुकसान हो जाता है। तो उस नुक्सान का भुगतान बीमा कंपनी अपने नियम और शर्तो के हिसाब से करेगी।

घर बीमा (Home Insurance)

अगर आप अपने घर का insurance करवाते है। तो अगर आपके घर में कोई नुक्सान हो जाता है तो सबसे पहले आप पुलिस और बीमा कंपनी को सूचित करके क्लेम के लिए फाइल लगा सकते है अगले 2 हफ्ते में आपके account में पैसा जमा हो जायेंगे।

ये दुर्घटना किसी भी तरीके से हो सकती है जैसे भूकंप से , आकाशीय बिजली गिरने से, घर में चोरी होना, आंधी या बारिश की वजह से ढह जाना, घर में शोर्ट सर्किट से आग लग जाना, इसी तरह कोई भी घटना घटित हो सकती है। अगर आपने अपने घर का बीमा ले रखा है तो आसानी से क्लेम ले सकते है।

वाहन बीमा (Motor Insurance )

इस बीमा में आपके पास कोई भी वाहन है तो आपको insurance करवाना बेहद जरूरी है अगर आप किसी शहर में वाहन चलते है तो सबसे पहले आपको trafice पुलिस रोड पर नही चलने देगी वो आपका चालान काट सकती है।

दूसरा ये भी है आप रोड पर चल रहे है आपके साथ या आपके ड्राईवर के साथ कोई हादसा हो जाता है और आपके पास कोई अपनी गाड़ी का insurance है तो उसका पूरा खर्चा बीमा कंपनी उठाएगी। अगर आपके पास बीमा है और expire हो गया है तो बीमा कंपनी क्लेम देने से इनकार कर सकती है।

अगर आपकी गाड़ी का insurance नही है और गाड़ी कोई दूसरा व्यक्ति चला रहा है ऐसे हादसे में ड्राईवर खत्म हो जाता है तो motar मालिक को आफत गले लग जाती है इसके लिए जुर्माना और जेल भी जाना पड़ सकता है। इसलिए मै आप सब से आग्र करता हु अपने वाहन का insurance जरूर करवाए।

Health insurance {स्वस्थ्य बीमा }

ये insurance आपके स्वस्थ्य के लिए किया जाता है भगवान् न करे आपको कोई बड़ी बीमारी हो लेकिन अगर आपको कोई बीमारी हो जाती है। जिसका खर्च भारी हो जिसे आम आदमी नही खर्च कर सकता है खर्च तो कर सकता है लेकिन उनके पास पैसे नही होने की वजह से वो अपनी जान नही बचा पाता है। एक दिन उसे अपनी जिन्दगी से हाथ धोना पड़ जाता है।

अगर आपने कोई हेल्थ insurance करवा रखा है और अगर आपको कोई बीमारी हो जाती है तो अपनी policy के नियम के अनुसार आपको क्लेम दिया जात है जिसे आप आसानी से इलाज करवा सको।

भारत में बड़े बड़े हॉस्पिटल है जिसमे इलाज बहुत महंगा होता है। जैसे applo हॉस्पिटल जो दिल्ली में मथुरा रोड पर है। उस हॉस्पिटल में गरीब को भर्ती होने के लिए सोचने पर मजबूर कर देता है। बिमारी से मरेगा या नही लेकिन इलाज के खर्च का नाम सुनकर जरूर मर जायेगा।

trevel insurance (यात्रा बीमा )

इस श्रेणी में आप अगर कही यात्रा कर रहे है। जैसे आपको ट्रेन से दिल्ली से मुंबई जाना है इस बिच कोई हादसा हो जाता है और आपने ट्रेवेल insurance करवा रखा है तो यात्रा शुरू होने से लेकर खत्म होने तक बिच में अगर कोई हादसा होता है तो insurance कंपनी आपको policy के अनुसार क्लेम देगी।

अगर आप टिकट ऑनलाइन बुक करते है। IRCTC से तो आपको automatice ही ट्रेवेल insurance हो जाता है। अगर आप untick नही करते है तो सबसे बेस्ट सबसे best टिकट बुकिंग साईट https://www.irctc.co.in/nget/train-search ही है।

फसल बीमा (Crop Insurance)

फसल बीमा अगर आप एक किसान है और आप खेती करते है तो आपको फसल बीमा कराना चाहिए क्यूंकि प्रकृति के नियम का आज तक कोई अंदाजा नही लगा पाया है किस समय बाढ़ olavristi आंधी तूफान से आपकी फसल खराब कर सकती है। तो उसका भुगतान बीमा कंपनी करेगी।

फसल बीमा का क्लेम लेना थोडा मुश्किल है लेकिन उनकी policy के अनुसार आपको कोई नुक्सान हुआ है तो आपको क्लेम जरूर मिलेगा।

कारोबार बीमा (business insurance)

इस बीमा के बारे में आप नाम से ही समझ गये होंगे की हम जो कारोबार कर रहे है अगर हमारे धंदे में कोई नुकसान हो जाता है और आपने insurance करवाया हुआ है तो हमे क्लेम देगी।

ये हादसा किसी भी तरह से हो सकता है या तो आपकी फक्ट्री में आग लग जाती है या रोड पर भरे ट्रक में आग लग गयी हो तो भी policy के नियम और शर्तो के हिसाब से आपको क्लेम दिया जायेगा।

ऑटो मोबाइल्स insurance

इस insurance में अगर आपके पास कोई मोबाइल है और आपने मोबाइल या लैपटॉप कम्पूटर टीवी फ्रीज या कोई भी चीज जिसकी कीमत 10 हजार से ज्यादा हो और लाइट से चलने वाली हो तो उसका insurance करवा सकते है।

अगर आपका सामान टूट जाता है या फिर बीजली से जल जाता है तो insurance कंपनी आपको policy के नियम और शर्तो के हिसाब से आपको क्लेम देगी।

निष्कर्ष

आज आपने इस पोस्ट के माध्यम से जाना What Is Insurance बीमा क्या है और कितने प्रकार का होता है?मुझे उम्मीद है आपको ये पोस्ट पसंद आई होगी अगर आपके मन में कोई सवाल है तो मुझे कमेन्ट बॉक्स में जरूर पूछे.

You May Also Like

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *