Network marketing in hindi नेटवर्क मार्केटिंग को समझे

network marketing in hindi नेटवर्क मार्केटिंग नाम कोई मार्केट में नया नही है क्यूंकि ये एक ऐसा बिज़नस है जिसे रातो रात लोग अमीर बन जाते है इस बिज़नस की शुरुआत रिश्तेदारों और नजदीकी दोस्तों से होती है,

network marketing in hindi

जब से भारत में नेटवर्क मार्केटिंग आई है तब से कुछ कंपनी एसी भी आई है जो ग्राहकों का भविष्य नही देखा उन्होंने सिर्फ अपना बिज़नस देखा है उस कंपनी की वजह से ही आज ये इस मार्केट में लोग इसे नेगेतिवे ज्यादा है|

इसके साथ कुछ कंपनी एसी भी है जो मार्केट में काम कर रही है जिन्होंने इतिहास रचा है और लोगो की जिन्दगी भी बदली है| आज इस पोस्ट में जानेंगे ( network marketing in hindi )

नेटवर्क मार्केटिंग क्या है ?

नेटवर्क मार्केटिंग एक ऐसा काम (बिज़नस) है कोई भी कंपनी किसी भी फिल्ड में काम कर रही हो जो कंपनी जिस प्रोडक्ट को बनती है उसे मार्केट में नही बेचती है.

वो सीधा अपने डिस्ट्रीब्यूटर्स को सेल करती है उसे जो कमाई होती है उसका कुछ % लेवल डिस्ट्रीब्यूटर्स को बाँटती है जो हर कंपनी का अलग अलग होता है

जैसे मै आपको एक उदारहण के माध्यम से समझाता हूँ|

उदारहण – आप एक पेन मार्केट से खरीदते है तो उसकी कीमत है 10 रूपये और कंपनी की लागत है 3 रूपये जो ऊपर के सात रूपये है, वो बिच के लोग कमाते है जैसे, होलसेलर, रिटेलर, GST, इत्यादि.

जबकि नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी प्रोडक्ट बनाती है और सीधा प्रोडक्ट अपने ग्राहक को देती है जो कमिशन बिच के लोग खाते है वो कमिशन अपने ग्राहकों को देती है|

इन्हें भी पढ़े

जैसे नेटवर्क मार्केटिंग एक साबुन 10 रूपये का बेचती है जबकि कंपनी की लागत 3 रूपये है बचे सात रूपये अपने डिस्ट्रीब्यूटर्स को बांटती है लेवल के हिसाब से तो आप समझ गये होंगे की नेटवर्क मार्केटिंग क्या है|

नेटवर्क मार्केटिंग कितना प्रतिशत डिस्ट्रीब्यूटर्स को देती है?

देखिये ये सब कंपनी का प्लान अलग अलग होता है एक resurch के आधार से मानना है की लगभग कंपनी अपने डिस्ट्रीब्यूटर्स को 50 प्रतिशत हिस्सा बाँटती है|

जो कंपनी mlm की privecy policy को अगर फॉलो करती है तो उनका कहना है 30 से 40 प्रतिशत देती है जो कंपनी ज्यादा लालच देती है वो मार्केट में लम्बे समय तक नही टिकती है|

ऐसा इसलिए कह रहा हूँ की कंपनी अपने डिस्ट्रीब्यूटर्स को लालच देकर जोड़ लेती है जब सच उनके सामने आता है तो लोग negtive हो जाते है इसलिए सावधान रहना जरूरी है|

नेटवर्क मार्केटिंग की शुरुआत कब हुई थी ?

सबसे पहले नेटवर्क मार्केटिंग की शुरुआत अमेरिका में हुई थी साल 1930 में कार्ल रेन्बोग नामक व्यक्ति ने कोलोफोर्मिया विटामिन कंपनी की शुरुआत की थी जबकि भारत में नेटवर्क मार्केटिंग साल 1995 में आई थी|

नेटवर्क मार्केटिंग के फायदे

अगर आप नेटवर्क मार्केटिंग को समझ लेते है तो आपकी लाइफ change हो सकती है जैसे कंपनी का सही चुनाव करना समय का ध्यान में रखते हुए, स्टार्ट करते है तो आहिये फायदे के बारे में जाने,

  • सबसे बड़ा फायदा नेटवर्क मार्केटिंग में है समय की कोई पाबंदी नही है जब चाहे तब काम कर सकते है,
  • नेटवर्क मार्केटिंग में जाने के बाद आपकी सोच change हो जाती है आपकी सोच खुल जाती है आपको बड़ा सोचने पर मजबूर कर देते है
  • हर दिन अच्छे लोगो से मुलाक़ात होती रहेगी
  • गरीबी से छुटकारा मिल जात है पैसो की कोई कमी नही है
  • लेवल अर्चिव करने के बाद मान सम्मान मिलता रहेगा
  • बोलने का तरीका
  • बैठने का तरीका
  • मीटिंग लेने का मौका
  • पब्लिक प्लेस में बोलने की कला
  • पर्सनलिटी
  • दुसरो की मदद करने का मौका मिलता है
  • रिस्क न के बराबर
  • कम लागत और बिज़नस बहुत बड़ा
  • लाइफ टाइम इनकम
  • घर बैठे रहोगे तो भी आपके पैसे आते रहेंगे

मैंने कुछ फायदे बताये है नेटवर्क मार्केटिंग के और भी बहत फायदे है बस आपको शुरुआत करने की जरूरत है|

कंपनी का चुनाव कैसे करे ?

ये सवाल सबसे बड़ा है क्यूंकि आपके जिन्दगी की शुरुआत इसी से होती है आप जिस कंपनी में अपना फ्यूचर लगायेंगे क्या ये मेरे को ऊपर तक लेकर जाएगी या नही इसके लिए आप किसी भी कंपनी को ज्वाइन करने से पहले ये जानना जरूरी है की कंपनी का चुनाव कैसे करे|

क्यूंकि दोस्तों मार्केट में एसी बहुत सी कंपनी है जो कुछ समय के लिए बाज़ार में आई और आज लापता हो गयी तो आप सबसे पहले सही कंपनी का चुनाव करे|

कंपनी का सबसे पहले कागजात चेक करे क्या ये भारतीय गाइड लाइन को फॉलो कर रही है या नही अगर नही कर रही है तो उस कंपनी को ज्वाइन न करे भले कोई भी कुछ क्यों न बोले

दूसरी चीज कंपनी के प्रोडक्ट – अगर कंपनी के प्रोडक्ट अच्छे है तो वो कंपनी भी लम्बे समय तक चलेगी क्यूंकि उनके प्रोडक्ट में दम है

तीसरी चीज कंपनी का प्लान अगर कंपनी का बिसिनेस प्लान अच्छा नही है तो भी कंपनी को ज्वाइन न करे

इन तीनो चीजो के बारे में अच्छी तरह से resurch करे बाद में अगर आपको लगे हा ये लम्बी रेस का घोडा है तो ही उस कंपनी का चुनाव करे अन्यथा कोई और कंपनी देखे मार्केट में हजारो कंपनी है |

नेटवर्क मार्केटिंग क्यों ज्वाइन करे ?

ये सवाल बहुत ही मजेदार है लोग कोई भी दुसरे काम को करने के बारे में सोचने के पीछे 3 कारण है
पहला या तो काम से संतुस्ट नही है
दूसरा या तो दाम से संतुष्ट नही है
तीसरा समय से संतुष्ट नही है

इन तीनो से छुटकारा नेटवर्क मार्केटिंग में मिलता है आप जब चाहे तब काम कर सकते है आप जितना चाहे उतना पैसा कमा सकते है तो अब आप समझ गये होंगे की नेटवर्क मार्केटिंग क्यों ज्वाइन करे|

नेटवर्क मार्केटिंग से नुक्सान

किसी भी बिज़नस को करने से पहले फायदे और नुक्सान दोनों के बारे में सोचना जरूरी है नुकसान हर बिज़नस में होता है लेकिन नेटवर्क मार्केटिंग में थोडा कम है

  • टीम बनाना इतना आसान नही है
  • टीम पर ध्यान नही देंगे तो टीम टूट सकती है
  • ये एक चेन सिस्टम है लोग आसानी से जुड़ नही पाते है
  • आप तो इस बिज़नस को कर सकते है लेकिन दुसरे से करवाना इतना आसन नही है
  • इस बिज़नस में टीम बनाने के लिए लोगो को थोडा घुमाना पड़ता है
  • 100 आदमी को आप प्लान देंगे तो 10 आदमी आपके साथ काम करने के लिए तयार होंगे

तो आज आपने इस पोस्ट के माध्यम से जाना की network marketing in hindi यानि network marketing के बारे में मुझे पूरी उम्मीद है की आपको ये पोस्ट पसंद आई होगी अगर आपके मन में कोई सवाल है तो मुझे कमेन्ट बॉक्स में जरूर पूछे

You May Also Like

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *